उत्तराखंड की बेटी नीमा पंत के सिर सजा मिसेज यूनिवर्स का ताज, मॉडल नहीं, रोल मॉडल बनने की देती हैं सीख

1230

ब्यूटी और ब्रेन के दम पर मूल रूप से उत्तराखंड निवासी 49 वर्षीय नीमा पंत ने मिसेज यूनिवर्स 2019 (एशिया जोन) का खिताब अपने नाम कर देश का नाम रोशन किया। 

लखनऊ में रहने वाली नीमा ने दिल्ली में आयोजित मिस्टर, मिस एंड मिसेज यूनिवर्स 2019 में देशभर से आईं  17 प्रतिभागियों को पछाड़कर खिताब जीता। इससे पहले 25 मई को अवध जिमखाना क्लब में आयोजित मिस एंड मिसेज नार्थ इंडिया 2019 प्रतियोगिता में मिसेज नार्थ इंडिया विनर का खिताब जीता था। 21 मई 1970 को अल्मोड़ा में जन्मीं नीमा पंत ने 1993 में कानपुर से स्कूली शिक्षा पूरी की।

कॉलेज ऑफ नर्सिंग से बैचलर ऑफ साइंस ऑनर्स किया। कोर्स के दौरान ही वह एक्सट्रा करिकुलर एक्टिविटीज में सक्रिय रहीं। कोलकाता के बीएम बिड़ला हार्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट से कार्डियक थोरेसिक नर्सिंग में 18 महीने का कोर्स किया। इसके बाद वर्ष 1995 में एसजीपीजीआइ में नर्सिंग अधिकारी के पद पर कार्डियोलॉजी आइसीयू में काम करना शुरू किया।

उन्होंने अपने शिक्षण के जुनून को पूरा करने के लिए शहर के दो नर्सिंग कॉलेजों में बच्चों को पढ़ाने का काम भी किया। उन्होंने मधुमेह व उच्च रक्तचाप पर एक पुस्तक भी लिखी है, जो आने वाले समय में एनसीआरटी में बच्चे पढ़ेंगे।

नीमा पंत कहती हैं कि अगर सही दिशा में प्रयास किया जाए तो सफलता मिलकर ही रहती है। युवाओं को संदेश देते हुए वह कहती हैं कि मॉडल नहीं, रोल मॉडल बनें। सिर्फ अपने लिए ही नहीं, समाज की भलाई के लिए जिम्मेदारी निभाएं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here