देवभूमि इंस्टीट्यूट में फीस के साथ विलम्ब शुल्क जमा करने का दबाव

67

विलंब शुल्क जमा न करने पर आज से शुरू हो रही वीएड परीक्षा में न बैठने देने की धमकी
देहरादून। राजधानी के देवभूमि इंस्टीट्यूट आफ टेक्नाजी में वीएड छात्रों से फीस के साथ अवैध तरीके से विलंब शुल्क भी वसूला जा रहा है। छात्रों का धमकाया जा रहा है कि यदि विलंब शुल्क जमा नहीं कराया तो 28 सितंबर 2020 से (आज) से शुरू होने वाली परीक्षा में नहीं बैठने दिया जाएगा।
पुरोला निवासी प्रशान्त उनियाल ने उत्तराखंड सरकार को भेजे एक पत्र में कहा है कि उनकी पत्नी व बहन दोनों वर्तमान समय मे श्री देव भूमि इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, पौंधा, प्रेमनगर देहरादून में बीएड चतुर्थ सेमेस्टर में अध्ययनरत हैं। आज जब वह अपनी बहन कुमारी प्रिया व अपनी पत्नी वर्षा की सेमेस्टर फीस जमा करने कॉलेज में गए तो वहां के एकाउंट विभाग द्वारा 25,000-25,000 कुल 50,000 रुपये चतुर्थ सेमेस्टर का जमा किया गया। परन्तु इसके अतिरिक्त वहां बताया गया कि 12600़-12600 कुल 25200 रुपये विलम्ब शुल्क भी जमा करें। यदि विलम्ब शुल्क जमा नही कराया गया तो दिनाँक 28.09.2020 से प्रारम्भ होने वाली बीएड चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा में नहीं बैठने दिया जाएगा। वहां अन्य विद्यार्थियों के परिजन व विद्यार्थी भी फीस जमा करने आये थे, सभी के साथ विलम्ब शुल्क के नाम पर अवैध वसूली की जा रही है। सभी को परीक्षा में न बिठाये जाने की खुली धमकी दी जा रही है।

इस कोरोनाकाल में जब मार्च के बाद कोई कक्षा ही नहीं चली। शासन ने विद्यालयों से विद्यार्थियों के साथ रियायत बरतने को कहा है, तब बिना किसी बात के विलंब शुल्क वसूलने का यह मामला चर्चाओं में है। यही नहीं कालेज में प्रिंसिपिल समेत तमाम अन्य प्रबंधन के अधिकारी किसी को फोन तक नहीं उठा रहे हैं। यह दर्शाता है कि वह परीक्षा में न बैठने देने की धमकी देकर किस तरह वसूली कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here