आल वैदर रोड को लेकर मुख्यमंत्री से मिला जोशीमठ का शिष्टमंडल

339

फोटो- आल वैदर रोड को लेकर देहरादून मे सीएम से भंेट करते हुए शिष्टमंडल के सदस्य ।
प्रकाश कपरूवाण
जोशीमठ। आल वैदर रोड को लेकर मुख्यमंत्री से हुई सकारात्मक वार्ता। गुलाबकोटी से पैनी वैण्ड तक की सर्वे किए जाने के निर्देश एनएच के मुख्य अभियंता को दिए। इस बीच आॅल वैदर रोड जोशीमठ से होते हुए ही निर्मित हो इसके लिए सीमांत नगर वासियों का धरना/प्रदर्शन 38वें दिन भी जारी रहा।
केन्द्र सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना चारधाम आॅल वैदर रोड से सीमांत धार्मिक एंव पर्यटन नगरी जोशीमठ पूर्ववत जुडी रहे इसके लिए बुधबार को जोशीमठ के एक शिष्टमंडल ने बदरी-केदार मंदिर समिति के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल व राज्य मंत्री रामकृष्ण सिंह रावत के नेतृत्व मे मुख्यमंत्री से भेंट की। शिष्टमंडल ने मुख्यमंत्री को आद्य जगदगुरू शंकराचार्य की तपस्थली व भगवान नृसिंह की नगरी जोशीमठ को बदरीनाथ यात्रा मार्ग से पूर्ववत जोडे रखने के लिए एक मत से सुझाव दिए। हाॅलाकि वार्ता के दौरान अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश द्वारा सेना का हवाला देते हुए हेलंग-मारवाडी वाईपास का जिक्र भी किया गया। जिसका बदरी-केदार मंदिर समिति के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल ने यह कहते हुए विरोध किया कि सीमांत क्षेत्र मे माणा बार्डर से ज्यादा संवेदनशील नीती पास व बडाहोती वाला बार्डर है जहाॅ से आए दिन धुसपैठ की खबरे मिलती है। दोनो वार्डर की सुरक्षा के साथ अनादिकाल से भगवान नृसिंह के दर्शनो के उपरांत ही भगवान बदरीविशाल के दर्शनो की मान्यता पर भी कुठाराधात होगा इसलिए सडक का निर्माण जोशीमठ होते हुए ही किया जाना चाहिए।
इस बैठक के दौरान अधिकारियों द्वारा यह भी सुझाव दिया गया कि बदरीनाथ जाने वाले वाहन हेलंग से जोशीमठ होते हुए ही जाऐगें और वापसी मारवाडी से हेंलग होगी, जिसका भी शिष्टमंडल ने पुरजोर विरोध किया।
मुख्य मंत्री ने शिष्ट मंडल को आश्वास्त करते हुए कहा कि वे व उनकी सरकार किसी बसे-बसाए नगर के अस्तित्व को कतई समाप्त करना नही चाहती, लेकिन सभी विकल्पो पर गंभीरता से विचार किए जाने की आवश्यकता है। उन्होने हेलंग से पूर्व लंगसी से गुलाबकोटी होते हुए पैनी वैण्ड के साथ ही सिंहधार-नृसिह मंदिर की भी सर्वे कराने के निर्देश मुख्य अभियंता एनएच को दिए। सीएम ने मुख्य अभियंता को स्वय सर्वे के दौरान मौजूद रहने व प्रनिधिमंडल को भी साथ रखने का सुझाव दिया।
बैठक के उपंरात शिष्टमंडल मे शामिल राज्य मंत्री द्वय रामकृष्ण सिंह रावत व मोहन प्रसाद थपलियाल ने दूरभाष पर बताया कि बैठक बेहद सौहार्दपूर्ण माहौल मे हुई और सीएम त्रिवेन्द्र रावत का रूख जोशीमठ को लेकर सकारात्मक हैं। जल्दी ही गुलाबकोटी से पैनी बैण्ड की सर्वै होगी।
सीमए को मिल शिष्टमंडल मे बीकेटीसी के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल व जनजाति सलाहकार परिषद के उपाध्यक्ष रामकृष्ण सिह रावत के अलावा नगर पालिका जोशीमठ के अध्यक्ष शैलेन्द्र पवंार,,ब्यापार संगठन के सरंक्षक माधव प्रसाद सेमवाल, पूर्व ईओ बीपी कपरूवाण , पूर्व पालिकाध्यक्ष ऋषि प्रसाद सती व अतुल सती आदि मौजूद थे।
इधर जोशीमठ बचाओ संघर्ष समिति के वैनर तले आॅल वैदर रोड को लेकर चल रहा आंदोलन 38वें दिन भी जारी रहा। संघर्ष समिति के प्रवक्ता कमल रतूडी के अनुसार शिष्टमंडल के वापस लौटने के बाद एक बैठक होगी जिसमे आगे के निर्णय लिए जाऐगे। तब तक आंदोलन जारी रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here