गैरसैंण राजधानी के लिए 300 किमी की पदयात्रा, स्व0 इंद्रमणि बडोनी प्रतिमा से चली यात्रा

37

देहरादून। 10 सितंबर 2019 को घंटाघर देहरादून स्थित स्वर्गीय इंद्रमणि बडोनी जी की प्रतिमा से प्रातः 6.00 बजे देहरादून से गैरसैण के लिए उत्तराखंड युवा शक्ति संगठन द्वारा 300 किलोमीटर से अधिक की पदयात्रा का शुभारंभ हुआ। गैरसैण राजधानी के लिए चली यह संकल्प यात्रा देहरादून से चलकर ऋषिकेश, देवप्रयाग, श्रीनगर, रुद्रप्रयाग, कर्णप्रयाग आदि जगहों से होते हुए गैरसैंण पहुंचेगी।
पदयात्रा में सम्मिलित हुए 10 यात्रियों को रवाना करने के लिए गैरसैंण राजधानी निर्माण अभियान, युवा आह्वान आदि संगठनों के लोग प्रातः इंद्रमणि बडोनी प्रतिमा के समक्ष उपस्थित रहे। गैरसैण राजधानी निर्माण अभियान के अभियान कर्मियों ने यात्रियों को फूल माला पहनाकर स्वागत करते हुए रवाना किया। इससे पूर्व जोरदार नारेबाजी और जनगीत गाते हुए सभी ने स्वर्गीय इंद्रमणि बडोनी की मूर्ति पर माल्यार्पण कर संकल्प लिया। उत्तराखंड युवा शक्ति संगठन के प्रमुख राकेश नाथ ने कहा कि उत्तराखंड राज्य की कल्पना को बगैर गैरसैण राजधानी अधूरी कहलाएगी। उन्होंने विभिन्न आंकड़ोॉ का हवाला देते हुए खस्ताहाल स्वास्थ्य सुविधाओं, जारी पलायन, स्कूलों के बंद होने की घटनाओं, पहाड़ के संसाधनों पर बाहरी लोगों के कब्जे आदि को प्रदेश के लिए घातक बताया। कहा कि गैरसैंण स्थाई राजधानी के बिना इन सब समस्याओं का हल तलाशना असंभव है।
यात्रियों को रवाना करने आए गैरसैण राजधानी निर्माण अभियान के नीति प्रभाग प्रमुख रणनीतिकार मनोज ध्यानी ने कहा कि गैरसैण राजधानी के लिए यात्रा पर निकले यात्री एक ऐतिहासिक यात्रा रच रहे हैं, जिससे प्रदेश की जनता के बीच में इस मुद्दे को ले जाना आसान होगा। उन्होंने कहा कि यह यात्रा गैरसैंण राजधानी मार्ग की दशा में मील का पत्थर साबित होगी। युवा आह्नान के निदेशक रोहित ध्यानी ने गैरसैंण अभियान कर्मियों के जज्बे को सलाम कहते हुए उन्हें अपनी शुभकामनाएं दी है। आज गैरसैंण के लिए रवाना हुए पदयात्रियों में राकेश नाथ, प्रकाश जोशी, देवेंद्र सिंह नेगी, महेंद्र रावत, विनोद नाथ, भक्कड़ सिंह ग्वाल आदि प्रमुख हैं।
स्व0 इंद्रमणि बडोनी की प्रतिमा से चले यात्री गैरसैंण राजधानी निर्माण अभियान के मंच पर पहुंचे जहां पर पं0 चंद्रभानु भट्ट ने यात्रियों का तिलक कर उनकी मंगल कामना कर रवाना किया। इस अवसर पर गैरसैंण अभियान के प्रमुख रणनीतिकार मनोज ध्यानी, युवा आह्वान के निदेशक रोहित ध्यानी, उत्तराखंड विकलांग संघ के प्रदेश अध्यक्ष बृज मोहन नेगी, पं0 चंदेरभानू भट्ट, राजेंद्र सिंह नेगी, आंदोलनकारी, प्रवीण गुसाईं, जसवंत सिंह जंगपांगी आदि प्रमुख रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here