नियमों को ताक में रख प्रचार करते नज़र आये विधानसभा उपाध्यक्ष, ग्रामीणों ने जताया विरोध

48

उत्तराखंड विधान सभा के उपाध्यक्ष एवं अल्मोड़ा विधायक रघुनाथ सिंह चौहान की एक वीडियो वायरल हुई है जिसमे उन्हें द्वितीय चरण का चुनाव प्रचार खत्म होने के बाद भी चुनाव से एक दिन पहले रात के समय गांव में प्रचार करने के कारण ग्रामीणों के विरोध का सामना करना पड़ रहा है।
बताया जा रहा है कि यह यह पूरा मामला अल्मोड़ा विधानसभा क्षेत्र के देवड़ा गांव का है जो कुमौली जिलापंचायत सदस्य की सीट के अंतर्गत आता हैए जहाँ से विधानसभा उपाध्यक्ष का भतीजा गोपाल सिंह चौहान जिलापंचायत सदस्य का उम्मीदवार है। रघुनाथ सिंह चौहान ने अपने भतीजे को जिताने के लिए लंबे समय ऐड़ी चोटी का जोर लगाया हुआ है। द्वितीय चरण के मतदान के लिए 9 अक्टूबर को शाम 5 बजे चुनाव प्रचार थम गया लेकिन विधानसभा उपाध्यक्ष अपने भतीजे के लिए नियमो को ताक में रखकर 10 अक्टूबर की रात तक इस क्षेत्र में प्रचार करते पाए गये जिस कारण ग्रामीणों ने इसका विरोध किया । वीडियो में साफ दिख रहा है कि ग्रामीण विधानसभा उपाध्यक्ष को नियमो हवाला देते नजर आ रहे है लेकिन वह इसको डोर टू डोर प्रचार बता कर पल्ला झाड़ रहे हैं। नियमो के मुताबिक विधानसभा उपाध्यक्ष का संवैधानिक होने के कारण वह राजनैतिक प्रचार में हिस्सा नही ले सकते । लेकिन वह लंबे समय से पंचायत चुनाव के रण में बीजीपी समर्थित उम्मीदवारों के पक्ष में दना दन प्रचार में जुटे हैं।जिस पर निर्वाचन से जुड़े अधिकारियों ने आंख मूद रखी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here