नृसिंह जयंती मनाने की तैयारी में जुटे जोशीमठ के भक्तजन

156

फोटो- नृसिंह जयंती के आयोजन को लेकर हुई बैठक में मौजूद जनप्रतिनधि व अन्य ।
प्रकाश कपरूवाण
जोशीमठ। नृसिंह जयंती पर होगा भब्य धार्मिक आयोजन। पूरे शहर में भगवान नृंिसंह की झाॅकी व गौधुली बेला पर भगवान नृसिंह का महाभिषेंक पूजन होगा। बदरी-केदार मंदिर समिति के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल की पहल पर इस वर्ष इस आयोजन को नया रूप दिया जा रहा है।
जोशीमठ के पौराणिक नृसिंह मंदिर मे यूॅ तो वर्ष 1996से निंरतर भगवान नृंिसहं की जयंती के अवसर पर धार्मिक आयोजन किया जाता रहा है। लेकिन इस बार बदरी-केदार मंदिर समिति ने भगवान नृंिसह की जयंती को और भी भब्य व दिब्य रूप देने का फैसला लिया। इसके तहत मंदिर समिति के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल द्वारा बदरी-केदार मंदिर समिति के मुख्यालय नृसिंह मंदिर मठांगण मे मंदिर सभागार मे एक बैठक आहुत की गई। जिसमे नगर की शिक्षण संस्थाओ, महिला मंगल दलों,,ब्यापार संघ, के अलावा राजनैतिक दलो के प्रतिनिधियों व जनप्रतिनिधियों ने भाग लिया।
इस बैठक मे विभिन्न प्रतिनिधियों द्वारा नृंिसह जयंती को भब्य रूप देने के लिए अपने-अपने सुझाव दिए। सभी सुझावो के बाद नृसिंह की झाॅकी पर एक राय बनी। जिसके तहत नृसिंह जंयती के अवसर पर 17 मई को प्रात दस बजे नृसिंह मंदिर मठांगण से नृसिंह की झाॅकी पूरे शहर मे घूमते हुए वापस नृंिसंह मंदिर मठांगण मे पंहुचकर दोपहर एक बजे समाप्त होगी। झाॅकी के दौरान महिला कीर्तन मंडली भजनो का गायन करेगी। और संस्कृत महाविद्यालय के छात्र विष्णु सहस्रनाम पाठ व नृंिसह चालीसा-व नृंिसहकरूणा सस्तोत्रम का पाठ करेगे। बैठक मे यह भी निर्णय हुआ कि अपरांन्ह तीन बजे से नृसिंह मंदिर मे भजन-कीर्तन होगे और सांय गोधुली बेला पर भगवान का महाभिषेंक होगा।
सभी महिला मंगल दलो से पारंपरिक परिधान मे झाॅकी मे शामिल होने की अपेक्षा की गई है। शिक्षण संस्थाओ से भी छात्र-छात्राओ की उपस्थिति की आग्रह किया गया है।
बैठक मे यह भी चर्चा हुई कि आने वाले वर्षो मे नृंिसह जयंती से पूर्व नृंिसह पुराण की कथा हो। इस पर भी सहमति बनी ।
बीकेटीसी के सदस्य ऋषि प्रसाद सती के संचालन मे हुई इस बैठक को संबोधित करते हुए बदरी-केदार मंदिर समिति के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल ने कहा कि जोशीमठ नृंिसह मंदिर आद्य जगदगुरू शंकराचार्य द्वारा स्थापित पौराणिक मंदिर है। इस मंदिर मे यूॅ तो प्रतिवर्ष कार्यक्रम होते रहते है। और नृसिंह जंयती को भब्य रूप मिले ऐसा विचार उनके मन मे आया। और यह सभी के सहयोग से ही हो सकता है। उन्होने कहा कि उपस्थित लोगो के नृंिसह जंयती को लेकर जो विचार आए है वे वाकई सराहनीय है। और लोगो की उपस्थिति व विचारो से स्पष्ट है कि यह महोत्सव भब्य स्वरूप लेगा। श्री थपलियाल ने कहा कि आने वाले वर्षो मे नृसिंह जयंती पर्व को और भी भब्य रूप देने के प्रयास होगे।
इस मौके पर दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री रामकृष्ण ंिसह रावत व नगर पालिका अध्यक्ष शैलेन््रद पंवार के अलावा ब्यापार संगठन के प्रदेश संगठन मंत्री माधव प्रसाद सेमवाल, देव पुजाई समिति के सचिव उमेश सती, कोषाध्यक्ष विजय डिमरी,, पूर्व अध्यक्ष गोविंद प्रसाद भटट, आदित्य भूषण सती, भोला सिंह नामड, पूर्व पालिकाध्यक्ष माधवी सती,, ब्यापार संघ के अध्यक्ष नैन सिह भंडारी, सचिव अमित सती, भाजपा नगर अध्यक्ष मुकेश डिमरी, नितेश चैहान, लक्ष्मण फरकिया,,भगवती नंबूरी, कांगे्रस नंगर अध्यक्ष रोहित परमार,, पैनख्ंाडा संघर्ष समित के अध्यक्ष एडवोकेट रमेश चंद्र सती, भाजपा नेता सुभाष डिमरी पालिका सभासद गौरव नंबूरी के अलावा डाडो, जोशीमठ, सिंहधार, सुनील व रविग्राम की महिला मंगल दलोे की अध्यक्षाओ के अलावा नगर की सभी शिक्षण संस्थाओ के प्रधानाचार्य व जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here