इंस्पायर अवार्डः बाल वैज्ञानिकों के नवाचारों को सामने लाने का मौका

52

इंस्पायर अवार्ड मानक कार्यक्रम में बाल वैज्ञानिकों के विचारों और नवाचारों को ऑनलाइन नामांकित करने के उद्देश्य से राजकीय इंटर कॉलेज जाखणीधार में इंस्पायर अवॉर्ड मानक ओरियंटेशन वर्कशॉप का आयोजन किया गया. इस अवसर पर विकासखंड के 20 इंटर कॉलेज व हाईस्कूलों के विज्ञान शिक्षकों द्वारा कार्यशाला में प्रतिभाग कर भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा जारी दिशा.निर्देशों के अनुसार नामांकन प्रक्रिया को समझा. खंड शिक्षा अधिकारी धनवीर सिंह ने विकासखंड के अंतर्गत समस्त शासकीय, अशासकीय और निजी विद्यालयों को इस योजना के अंतर्गत शत.प्रतिशत नामांकन का लक्ष्य प्राप्त करने का आवाहन किया है।
राजकीय इंटर कॉलेज जाखणीधार टिहरी गढ़वाल में इंस्पायर अवार्ड मानक कार्यक्रम के अंतर्गत विकासखंड स्तरीय ओरियंटेशन वर्कशॉप का आयोजन कर प्रोजेक्टर के माध्यम से कक्षा 6 से कक्षा 10 तक अध्ययनरत छात्र.छात्राओं के मन में वैज्ञानिक सोच विकसित करने के उद्देश्य से बाल वैज्ञानिकों के नवाचारयुक्त विचारों को भारत सरकार के विज्ञान एवं तकनीकी विभाग के पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण और नामांकन की प्रक्रिया से प्रतिभागियों को अवगत कराया गयाण् इंस्पायर अवार्ड मानक कार्यक्रम के ब्लॉक कोऑर्डिनेटर सुशील डोभाल द्वारा प्रोजेक्टर के माध्यम से विकासखंड के समस्त विद्यालयों से आए प्रतिभागियों को भारत सरकार के विज्ञान एवं तकनीकी विभाग और राष्ट्रीय नवप्रवर्तन प्रतिष्ठान के द्वारा संचालित इंस्पायर्ड अवार्ड मानक कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी देते हुए विद्यालयों के ऑनलाइन पंजीकरण व छात्रों के नामांकन की प्रक्रिया को प्रोजेक्टर द्वारा प्रस्तुत कियाण् उन्होंने कहा कि मुख्य शिक्षा अधिकारी टिहरी श्री डीसी गॉड, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक श्री एस पी सेमवाल तथा जिला संयोजक इंस्पायर अवार्ड मानक श्री अलख नारायण दुबे द्वारा जनपद के समस्त विद्यालयों से मानकों के अनुसार नियत मात्रा में छात्रों के गुणवत्तायुक्त विचारों के नामांकन निर्धारित मानकों के आधार पर करने की अपेक्षा की गई है।
उल्लेखनीय है कि भारत सरकार के विज्ञान एवं तकनीकी विभाग द्वारा कक्षा 6 से 10 तक अध्ययनरत सभी सरकारी अर्द्ध सरकारी और निजी विद्यालयों के छात्र.छात्राओं में वैज्ञानिक एवं अनुसंधानात्मक सोच विकसित करने के लिए प्रतिवर्ष इंस्पायर अवॉर्ड कार्यक्रम के अंतर्गत बाल वैज्ञानिकों से नए अनुसंधान और नई खोजों के लिए विचार आमंत्रित किये जाते हैं। आमंत्रित विचारों का चयन होने पर लाभार्थी छात्रों को ₹10000 की अवार्ड राशि के साथ प्रमाण पत्र दिया जाता है और ऐसे छात्रों को जनपद राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिभाग करने के साथ.साथ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी अपनी प्रतिभा को दिखाने के मौके मिलते हैं। इसी कार्यक्रम के अंतर्गत 1 अप्रैल से इंस्पायर अवार्ड मानक पोर्टल पर छात्रों के ऑनलाइन नामांकन किए जा रहे हैं। नामांकन की अंतिम तिथि ३१ जुलाई निर्धारित है।
समस्त विद्यालयों तक कार्यक्रम के लिए ब्लॉक स्तरीय कार्यशाला का आयोजन राजकीय इंटर कॉलेज जाखणीधार टिहरी गढ़वाल में किया गया। कार्यक्रम का संचालन करते हुए बतौर खंड शिक्षा अधिकारी के प्रतिनिधि राजकीय इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य श्री महावीर सिंह परमार ने कहा की गत वर्ष टिहरी जनपद में देशभर में सर्वाधिक नामांकन और छात्रों के चयन में दूसरा स्थान प्राप्त कर देश भर में अपनी नई पहचान बनाई है। उन्होंने विकासखंड जाखणीधार के समस्त शिक्षकों को इस कार्य को आगे बढ़ाने में अपना योगदान देने का आवाहन किया। इस मौके पर राजकीय शिक्षक संघ के ब्लाक अध्यक्ष दिनेश प्रसाद डंगवाल ने विकासखंड के अंतर्गत विभागीय प्रमुख उपलब्धियों से समस्त प्रतिभागियों को अवगत करवाया।
कार्यशाला में राजकीय इंटर कॉलेज मंदार से शिक्षक चंद्र सिंह, बड़कोट से एमएस कठैत, कनेलधार से अरविंद सिंह, गेंवली देवल से श्रीमती शकुंतला कुमाई, कैंथोली से श्रीमती अंशु पवार, भरेटीधार से मंजू नेगी, कफलोग से प्रीति चमोली, धारकोट से मनीष कुमार, वीरेंद्रकोट से ओपी बडोनी, थाल्काधार से शिव चरण, टिपरी से अमित कुमार, कोपरधार से सचिंद्र सिंह, कपरेणीसैण से मुकेश कुमार, जाखणीधार से संजीव नेगी, पंकज डंगवाल, चन्दन सिंह असवाल, दिनेश रावत, सुनील बिष्ट, रणजीत पंवार, राधुधार से रविंद्र लसियाल, लामरीधार से वीरेंद्र असवाल, अंजणीसैण से राकेश नेगी और मदन नेगी से श्रीमती कांता भंडारी आदि ने प्रतिभाग किया।
सुशील डोभाल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here