गंगा में उढेला जा रहा है सीवरेज का पानी, बदबू से बुरा हाल, यात्रियों की आस्था से खिलवाड़

31

फोटो-गंगा में सीवरेज का पानी जाने से उठती बदबू से परेशान लोग।
हरिद्वार। धर्मनगरी हरिद्वार के हृदय स्थल रामघाट, विष्णु घाट, कीठलवाली धर्मशाला, बद्री बावला धर्मशाला, कुशा घाट मार्ग, श्रवणनाथ घाट इत्यादि क्षेत्रों के आम नागरिक ने बरसों से माँ गंगा में जा रहा सीवरेज का पानी, कूड़ा ना उठना, साफ-सफाई को लेकर नगर निगम प्रशासन जल संस्थान प्रदूषण बोर्ड के खिलाफ जमकर हमला बोला। स्थानीय नागरिकों महिलाओं ने नगर निगम प्रशासन प्रदूषण बोर्ड जल संस्थान के अधिकारियों पर कई बार शिकायत करने के बावजूद भी सफाई व्यवस्था को लेकर राम घाट स्थित कीठलवाली धर्मशाला, बद्री बावला के बीच गंगा में आने जाने वाली गली की सफाई की मांग को उठाया लेकिन अधिकारी की लापरवाही की वजह से स्थानीय क्षेत्रवासी बीमारियों से ग्रस्त है और दुर्गंध के कारण क्षेत्रवासियों का रहना भी हो रहा है दुशवार, सफाई व्यव्स्था को लेकर सम्बंधित विभागो के खिलाफ हल्ला बोला।
इस अवसर पर काफी समय से सफाई की मांग कर रहे स्थानीय निवासियों की न्याय संगत मांग का समर्थन करते हुए पूर्व कृषि उत्पादन मंडी समिति अध्यक्ष संजय चोपड़ा ने कहा राम घाट स्थित किठल वाली धर्मशाला के समीप नालियों में कूड़ा करकट इक्कठा होने के कारण काफी समय से सीधा गंगा में सीवरेज का पानी जा रहा है। जिससे आने वाले तीर्थ यात्रियों की आस्था के साथ खिलवाड़ हो रहा है। जो कि औचित्य पूर्ण नहीं है ।उन्होंने कहा यदि जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा 36 घंटे के अंदर सफाई व्यवस्था पर गंभीरता नहीं दिखाई तो संघर्ष किए जाएंगे। उन्होंने कहा केंद्र सरकार में राज्य सरकार माँ गंगा के संरक्षण के लिए नमामि गंगे, स्पर्श गंगा अभियान चलाए हुए हैं लेकिन आधिकारिक रूप से लापरवाही की वजह से स्थानीय नागरिकों के साथ तीर्थ यात्रियों को भी काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है जो कि कानूनी रूप से भी नियमों का उल्लंघन है।
स्थानीय निवासी दिनेश शर्मा, नीरज कुमार ने संयुक्त रूप से कहा गंगा की सफाई के लिए जहां एक और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश में स्वच्छता अभियान चलाए गए लेकिन हकीकत उससे कोसों दूर है सालों से गंगा में जा रहे सीवरेज के पानी को रोकने के लिए संबंधी विभागीय अधिकारियों द्वारा इच्छा शक्ति ना दिखाना जनता के साथ अन्याय जैसा प्रतीत होता है। इस अवसर पर नगर निगम प्रशासन जल संस्थान प्रदूषण बोर्ड के खिलाफ अपना रोष प्रकट करते अशोक कुमार, सुंदरलाल, मनोज कुमार, ओम प्रकाश, राजेश शर्मा, श्यामलाल कुंवर सिंह, राजेश अरोड़ा, अशोक महेश्वरी, कुमारी नैना शर्मा, शगुण, रीटा मल्होत्रा आदि सम्मलित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here