विद्यापीठ-रुद्रप्रयाग, मंडल में आयुर्वेद मेडिकल कालेज खुलेगा, बदरीनाथ मंदिर परिसर का होगा विस्तार

277

फोटो-
-बदरी-केदार मंदिर समिति की बैठक को संबोधित करते समिति के अध्यक्ष
प्रकाश कपरूवाण
बदरीनाथ/जोशीमठ। बदरी-केदार मंदिर समिति की बैठक में विद्यापीठ-रूद्रप्रयाग तथा मंडल में आयुर्वेद मेडिकल कालेज खोलने का प्रस्ताव तथा बदरीनाथ मंदिर परिसर के विस्तार का प्रस्ताव पारित किया गया। बैठक से पूर्व बीकेटीसी के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल ने इंडियन आॅयल कारपोरेशन द्वारा शुद्ध गर्म व शीतल पेयजल के लिए भेंट किए आर0ओ0 का लोकापर्ण किया।
बदरीनाथ धाम में बदरी-केदार मंदिर समिति की पहली बैठक समिति के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल की अध्यक्षता मे संपन्न हुई। बैठक शुरू होने से पूर्व बीकेटीसी के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल ने कमेटी के सभी मनोनीत सदस्यों का स्वागत करते हुए कहा कि बदरी-केदार मंदिर समिति राज्य में एक सर्वश्रेष्ठ कमेटी है। बदरीनाथ व केदारनाथ यात्रा पर उत्तराख्ंाड की आर्थिकी भी निर्भर है। इन धामो मे कैसे बेहतर ब्यवस्था हो, इस पर सभी सदस्यो को ब्यापक विचार करना है। ताकि आने वाले वर्षो मे धामो मे पंहुचने वाले तीर्थयात्रियों को आवास व दर्शनो की बेहतर सुविधा दी जा सके। इस बैठक मे विद्यापीठ तथा मंडल मे आर्युवेद मेडिकल कालेज खोले जाने,बदरीनाथ मंदिर परिसर का विस्तार किए जाने, बदरीश कीर्ति पंचाग निकालने, विभिन्न उप समितियो का गठन करने,के साथ ही श्री बदरीनाथ जी की आरती लिखने वाले स्व0 धन सिंह वत्र्वाल के पोते व परिजनो को अगली बैठक मे सम्मानित किए जाने का प्रस्ताव पारित किये गए।
इस बैठक मे यह भी तय हुआ कि मंदिर समिति मे वर्तमान मे कर्मचारियों के सभी पद पूर्ण है और जब तक स्थिर वेतन तथा सीजनल कर्मचारी नियमित नही हो जाते तब तक नई नियुक्ति नही की जा सकेगी। इसके अलाव मंदिर समिति की सेवा नियमावली, बरिष्ठता सूची व डीपीसी किए जाने का भी प्रस्ताव किया गया।
बदरीनाथ मे नई गैस ऐजेंसी खेाले जाने के सरकार के प्रस्ताव पर विचार करते हुए तय किया गया कि मंदिर समिति को ही गैस ऐजेसी दी जाए, समिति स्वय एंजेसी संचालित करेगी। इस प्रकार का प्रस्ताव भी पारित किया गया । बैठक मे 14सीजनल कर्मचारियों के नियमितीकरण का प्रस्ताव भी पारित किया गया।
श्री थपलियाल ने कहा कि बदरी-केदार मंदिर समिति के अधीन श्री बदरीनाथ एवं श्री केदारनाथ धामो के अलावा 45अन्य मंदिर भी है। जिनके विकास एव ब्यापक प्रचार-प्रसार से उन क्षेत्रों तक भी श्रद्धालुओं को पंहुचाया जा सके। श्री थपलियाल ने बैठक मे जानकारी दी कि इंडियन आॅयल कारपोरेशन द्वारा श्री बदरीनाथ धाम एंव श्री केदारनाथ धाम के लिए सात-सात आर0ओ0 भेंट किए गए है। तीन आर0ओ0 बदरीनाथ टैक्सी स्टैण्ड, बस स्टैण्ड व मंदिर परिसर मे स्थापित कर लिए गए है। इनके अलावा एक आर0ओ0 दर्शनो की लाइन के अंतिम छोर ब्रहमकपाल के ऊपर स्थापित किए जाएगा। साथ ही एक आर0ओ0 नृंिसह मंदिर जोशीमठ व एक चमोली मे स्थापित किया जाऐगा। इसी प्रकार तीन आर0ओ0 श्री केदारनाथ धाम मे, एक गौरीकुंड, एक गुप्तकाशी व एक रघुनाथ मंदिर देवप्रयाग मे स्थापित किया जाऐगा। उन्होने बताया कि ये सभी आर0ओ0 आधुनिक है, व इनकी कीमत चार लाख रूपया प्रति आर0ओ0है। और ये यात्रियों को शीतल व गर्म पेयजल चैबीसो घंटे उपलब्ध रहेगा। श्री थपलियाल ने मंदिर समिति की ओर इंडियन आॅयल कारपोरेशन का आभार प्रदर्शित किया ।
बदरी-केदार मंदिर समिति के सीईओ बीडी सिंह के संचालन मे हुई समिति की इस महत्वपूर्ण बैठक मे मंदिर समिति मे वर्षो से कार्यरत 14सीजनल कर्मचारियों को नियमित किए जाने का प्रस्ताव पारित किया गया। बैठक मे अध्यक्ष श्री थपलियाल ने यह भी कहा कि किसी भी माननीय सदस्यो को मंदिर समिति के किसी भी कर्मचारी/अधिकारियों की कोई शिकायत हो तो सीधे उनसे वार्ता करें। ताकि समय रहते उस पर विचार किया जा सके।
मंदिर समिति के अध्यक्ष श्री थपलियाल ने कहा समिति के सदस्य अनिल कंसल द्वारा बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति को 11लााख रूपये दान स्वरूप भेंट किए है। और कई अन्य सदस्य भी मंदिरो की सेवा के लिए दान देना चाहते है सभी का स्वागत है और मिलजुल कर ही वे धामो का चहुॅमुखी विकास कर सकेगे।
बैठक मे मंदिर समिति के उपाध्यक्ष अशोक खत्री समेत उपस्थिति सदस्यो ने अनेक सुझाव रखे।
बदरी-केदार मंदिर समिति के गठन के बाद हुई पहली बैठक मे अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल व उपाध्यक्ष अशोक खत्री के अलावा सदस्यगण अनिल कंसल,राकेश ओबराॅय,अरूण मैठाणी, राजपाल पुण्डीर, ऋषि प्रसाद सती, इंद्रमणी गैरोला, राजपाल सिंह जडधारी, धीरज पंचभैया’’मोनू’’,व चंद्रकला ध्यानी के अलावा बदरी-केदार मंदिर समिति के सीईओ बीडी सिंह,डिप्टी सीईओ सुनील तिवारी, कार्याधिकारी एन0पी0 जमलोकी, मंदिर अभियंता विपिन तिवारी, विधि अधिकारी एस0एस0वत्र्वाल, मंदिर अधिकारी मोहन प्रसाद सती, सहायक मंदिर अधिकारी राजेन्द्र सिह चैहान, मुख्य प्रशासनिक अधकारी आर0बी0उनियाल, बरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी गिरीश चैहान, केदारनाथ अधिष्ठान के लेखाकार आर0सी0 तिवारी, , राजकुमार नौटियाल, कमेटी सहायक संजय भटट, बदरी-केदार कर्मचारी संघ के अध्यक्ष जगमोहन वत्र्वाल, व प्रमोद नौटियाल आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here