पूर्णाहुति, यज्ञ के साथ सप्त दिवसीय रुद्र महायज्ञ का समापन

77

01–कथा के समापन अवसर पर ब्यास पीठ से आर्शीवचन देते कथावाचक आचार्य सेमवाल।
प्रकाश कपरूवाण
जोशीमठ। पूर्णाहुति व यज्ञ के साथ सप्त दिवसीय रूद्र महायज्ञ एंव शिव महापुराण कथा का भब्य समापन हुआ। पैनंखंडा के कई गाॅवों के ग्रामीणो ने यज्ञ स्थल पूर्णेश्वर महादेव मंदिर पंहुचकर प्रसाद ग्रहण किया।
पैनख्ंाडा जोशीमठ के ढाक ग्राम पंचायत के शीर्ष पर स्थिति पंागरकोट तोक मे सिंद्धपीठ पूर्णेश्वर महादेव मंदिर परिसर मे बीती 3जून से शुरू हुए शिव पुराण कथा व रूद्र महायज्ञ का रविबार को पूर्णाहुति के साथ समापन हो गया ।
प्रख्यात कथा वाचक आचार्य नित्यानंद सेमवाल ने कथा के समापन से पूर्व भवगान शिव, माता पार्वती व भगवान गणेश की आराधाना करते हुए उनके अनेक रूपो का वर्णन किया। उन्होने सात दिनो तक अनवरत कथा प्रवचन व भंडारो मे सहयोग के लिए ग्राम पंचायत ढाक के सभी जनो का साधुवाद करते हुए कहा कि अगले वर्ष ठीक तीन जून से इसी स्थान पर श्रीमददेवी भागवत कथा का आयोजन किया जोएगा। कथावाचक आचार्य सेमवाल ने ब्यास पीठ से सभी ध्याॅणियों व ब्राहमणों को अंगवस्त्र व दक्षिणा देकर सम्म्मानित किया। उन्होने सात दिनो तक कथा समागम की ब्यवस्थाओ मे लगे सभी लेागो को भी सम्मानित करते हुए आने वाले वर्ष मे भी इसी प्रकार के सहयोग की अपेक्षा की।
सात दिवसीय इस कथा ज्ञान यज्ञ मे गीता देवी भटट व डा0सचिदानन्द भटट बतौर मुख्य अतिथि शामिल रहे। उन्होने आचार्य नित्यांनद सेमवाल से समय-समय पर धार्मिक अनुष्ठान करते हुए पूर्वजो की धरती का उद्धार करने का आवहान किया। गौरतलब है कि आचार्य सेमवाल मूल रूप से ढाक ग्राम पंचायत के ही निवासी है। और अध्ययन करते व कथा वाचक बनने के बाद वे देहरादून ही प्रवास करने लगे।
कथा के समापन अवसर पर दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री रामकृष्ण ंिसहं रावत सहित अनेक लोग कथा समागम स्थल पर पंहुचे थे। कुंडी-खोला के प्रधान शिव प्रसाद थपलियाल, संरपच पुष्कर सिंह, सेनि0 क्षेत्रीय प्रबंधक पीबी थपलियाल, कांति थपलियाल, व अन्य पारिवारिक लोग आंगतुको के स्वागत मे जुटे रहे। कथा ज्ञान यज्ञ के पाॅचवे दिवस बदरी-केदार मंदिर समिति के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल भी कथा समागम मे सम्मलित हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here